Author Posts

March 11, 2015 at 4:09 am

आधा किलो तोरी को बारीक काटकर 2 लीटर पानी में उबालकर, इसे छान लें। फिर प्राप्त पानी में बैंगन को पका लें। बैंगन पक जाने के बाद इसे घी में भूनकर गुड़ के साथ खाने से बवासीर में बने दर्द और पीड़ा युक्त मस्से झड़ जाते हैं।

 

April 20, 2015 at 10:28 am

जीरे के सेवन से गर्भाशय की सफाई, एसिडिटी दूर होती है, बिच्छू का जहर उतरता है, बवासीर में आराम मिलता है।

सौंफ, जीरा और धनियां सब 1-1 चम्मच लेकर 1 गिलास पानी में उबालकर काढ़ा बनाएं। आधा गिलास पानी बच जाने पर उसमें एक चम्मच गाय का घी मिलाएं। सुबह-शाम पिएं। खूनी बवासीर से खून गिरना बंद हो जाएगा।

मूली रस में डालकर, लेओ जलेबी खाए।
एक सप्ताह तक खाइए, बवासीर मिट जाए।।

August 25, 2015 at 11:06 am

  • छाछ में हींग, जीरा और सेंधा नमक डालकर पीने से गैस और बवासीर में लाभ मिलता है। साथ ही जीरे को पानी में पीसकर बवासीर के मस्सों पर लगाएं, तो और भी जल्दी आराम मिलता है।
  • बवासीर रोग से पीड़ित रोगियों को दोपहर के भोजन के बाद एक गिलास छाछ में अजवायन डालकर पीने से फायदा मिलता है।